• Thu. Oct 21st, 2021

Uttar Pradesh

  • Home
  • महंत की रहस्यमय ‌मौत : हत्या या आत्महत्या?

महंत की रहस्यमय ‌मौत : हत्या या आत्महत्या?

राजीव कुमार ओझा  अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरी की ताजपोशी से शुरू विवादों का सिलसिला उनकी मौत के बाद भी थमता नजर नहीं आता। दिवंगत महंत नरेंद्र गिरी का…

भ्रष्टाचार : यह इंस्पेक्टर नटवरलाल ही नहीं सफेदपोश अपराधी भी है..?

वह सप्लाई विभाग का ‘नटवर लाल’ ही नहीं, एक सफेदपोश अपराधी भी है, जो सारे अपराध सरकारी मुलाजिम की निरंकुश और बेजा ताकत के मद में करता है..और क़लम जब…

एके शर्मा एमएलसी का पश्चिमी यूपी का दौरा

भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद नोएडा के अपने पहले दौरे के दौरान श्री ए ० के० शर्मा जी नोएडा में अपने दौरे के आखिरी दिन दो कार्यक्रमों…

शिक्षक विद्यार्थियों को जीना सिखाता है- प्रो. कीर्ति सिंह

पीयू में आयोजित हुआ शिक्षक सम्मान समारोह प्रो. कीर्ति सिंह एवं कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने अंगवस्त्रम और सम्मान पत्र देकर शिक्षकों को किया सम्मानित जौनपुर। वीर बहादुर सिंह…

प्रदेश के हर मंडल में बनेगा एक राज्‍य विश्‍वविद्यालय

*ग्रामीण परिवेश के छात्रों को पढ़ाई के लिए नहीं जाना पड़ेगा दूर *200 करोड़ रुपए से प्रदेश के राजकीय डिग्री कॉलेजों में भवनों का निर्माण *लखनऊ। 22 फरवरी.उच्‍च शिक्षा के…

टीएमयू के मेडिकल कॉलेज में एनॉटोमी के छात्र-छात्राओं ने ली कैडेवर की शपथ

तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर के एनॉटोमी के प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं ने शव-विच्छेदन शुरू करने से पहले कैडेवर – प्रिजर्व्ड बॉडी शपथ ग्रहण की। छात्र-छात्राओं…

मानवाधिकार और आरटीआई एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर को मिली धमकी

उत्तर प्रदेश की प्रमुख मानवाधिकार और आरटीआई एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर को धमकी मिली है. और यह धमकी मौखिक नहीं बल्कि लिखित रूप में दी गई और धमकी देने वाले ने…

वर्ष 2017 में हमारी सरकार आने के बाद प्रदेश की जनता को बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा से बचाने हेतु राज्य सरकार ने विस्तृत कार्य योजना बनाकर पूरी जवाबदेही के साथ…

योगी की कार्रवाई मुरादनगर के दोषियों के विरुद्ध एनएसए, मृतकों के आश्रितों को दस लाख

मुरादनगर, जनपद गाजियाबाद की दुर्घटना अक्षम्य व अत्यंत पीड़ादायक है। हादसे के अभियुक्तों के विरुद्ध NSA के तहत कार्यवाही की जाएगी। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। मानक विरुद्ध…

मंगलेश डबराल स्मृतिशेष

बिमल तिवारी “आत्मबोध” कवि क़भी मरता नहीं हैं जिंदा रहता हैं हमेसा हरदम हरपल हर समय, तब तक जब तक यह सृष्टि रहतीं हैं, और रहता हैं बुद्धि विवेक समझ…

हिंदी »