• Thu. Oct 21st, 2021

Shakhsiyat

  • Home
  • बेमिसाल : पीड़ा और प्रवीण के बीच समय ने कब एक राजनेता को गढ़ दिया.. पता ही नहीं चला!

बेमिसाल : पीड़ा और प्रवीण के बीच समय ने कब एक राजनेता को गढ़ दिया.. पता ही नहीं चला!

पीड़ा और प्रवीण के बीच उम्मीद भरे दो बरस की सियासत.. दो बरस पहले के प्रवीण और आज के प्रवीण के बीच एक अग्नि पथ का सफ़र है. यह सफ़र…

शख्सियत : शिशिर सिंह परिहार : कोई एक दिन में नहीं बनता है उसे तो परिस्थितियां बनातीं हैं..

@ अरविंद सिंह आजमगढ़ का एक ऐसा नाम है, जिसने अपनी मेहनत और विज़नरी सोच से न केवल अपनी परिस्थितियों को बदल डाला बल्कि बहुतों की जिन्दगी भी संवार डाला.…

गांधी जयंती : बिना ओहदे के सबसे बड़ी काया

संवाद की शक्ति-बिना ओहदे के सबसे बड़ी काय –अरविंद कुमार सिंह जो किसी ओहदे पर होते हैं, उनके पास प्रचार प्रसार का एक व्यवस्थित तंत्र, संसाधन औऱ टीम होती है।…

जब गिर पड़ी हिन्दू मुस्लिम की दीवार

स्वामी ओमा का जन्मोत्सव   ●अम्बरीष राय नफ़रतों के इस दौर में एक घर मुहब्बत का है. जहां सियासत की कोई बात नहीं, कोई एजेंडा नहीं. कुछ लोग इस दौर में…

माटी के लाल ; वीएन राय : जिसने बतौर पुलिस अधिकारी पुलिस के अमानुषिक कृत्य पर धारदार क़लम चलाया..!

माटी के लाल आज़मियों की तलाश में.. ० महात्मा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा के वीसी रह चुके हैं ० डीजीपी से सेवानिवृत्त और राष्ट्रपति सम्मान से सम्मानित ० ‘शहर…

पत्रकार और कवि सुभाष राय को पहला देवेन्द्र कुमार स्मृति सम्मान

लखनऊ/ गोरखपुर। प्रेमचंद साहित्य संस्थान गोरखपुर द्वारा हिंदी के विलक्षण कवि देवेंद्र कुमार की स्मृति में घोषित देवेंद्र कुमार स्मृति कविता सम्मान कवि-लेखक-पत्रकार सुभाष राय को दिया जाएगा। यह जानकारी…

पुण्यतिथि पर विशेष : धारा के विरुद्ध खड़े होने की आदत चंद्रशेखर को यंग टर्क बना देती है..

8 जुलाई । आज एक ‘समाजवादी ‘ चंद्रशेखर जी की पूर्णतिथि है, गो कि इस अजीम शख्सियत के साथ कई और तमगे लटके हैं, मसलन ‘ प्रधान मंत्री ‘ ‘जनतापार्टी…

माटी के लाल: विष्णुदेव गुप्त : जिसने पूरा जीवन समाजवादी आंदोलन के लिए कुर्बान कर दिया..

माटी के लाल आजमगढ़ियों की तलाश में.. ० महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और आजादी के नायक थे ० सालो जेल में बिताए लेकिन अपने उसूलों से कभी समझौता नहीं किया.…

दिलों में हमेशा जिंदा रहेंगे दिलीप साहब

●श्याम सुंदर भाटिया काश, सोशल मीडिया में सेहत से जुड़ी उनकी यह ख़बर भी दीगर न्यूज़ की मानिंद महज अफवाह होती, लेकिन इस बार बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार…

माटी के लाल : मुखराम सिंह होने का मतलब एक महान आंचलिक चितेरा और सिंह गर्जना वाला कलमकार..

माटी के लाल आजमगढि़यों की तलाश में.. ० ‘बिसराम के विरहों’ का संकलन और संपादन किया ० वेस्ली इंटरमीडिएट कालेज में हिंदी के प्रकांड विद्वान थे ० 1983 आजमगढ़ कचहरी…

हिंदी »