पहल : डाक्टर कफील को लेकर चंचल ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

प्रिय मुख्य मंत्री योगी जी
हम आपसे मिलाना नही चाहते , (अंगूर खट्टे हैं के तर्क पर ) आपके समयाभाव है , और हम उम्र और आदत से परेशान है क्यों कि ये दोनों अब हमें महज जुबान चलाने की छूट देते हैं सो सोचा उसी में आपसे एक बात मनवा लूं । आप योगी हैं , वो भी नाथ पंथ के जिसका प्रमुख लक्ष्य है करुणा और इसका विस्तार । हम भाषण नही दे रहे केवल याद दिला रहा हूँ । मुख्य मंत्री हैं , यह बड़ा ओहदा है । आप एक सूबे के अलम्बरदार है और जनता के हिफाजत की जिम्मेवारी आपके कंधे पर है । आज उत्तर प्रदेश में अनेक लोग प्रशासनिक मतिहीनता के चलते जेल में हैं , हम यह भी जानते हैं कि बहुतों के बारे में आपको सूचना भी नही होगी । लेकिन जनतंत्र का कायदा है जवाबदेही ऊंचे ओहदे की ही होती है । आज हम एक विशेष प्रयोजन से आपको खत लिख रहा हूँ कि आप अपनी तरफ़ से विशेष ध्यान देकर डॉ कफील को जेल से बाहर करा दें । तोप की ताकत से ज्यादा ताकतवर होता है करुणा से उपजा उपकार । यह उपकार डॉ कफील के लिए नही , उस अबोध बच्चे के लिए जो कफील की बाहों में लेटा कोई ख्वाब बुन रहा है । आज उस ख्वाब में बार बार उसके बाबा उभर रहे होंगे । बच्चों के ख्वाब की तामीर कौम को ही नही इतिहास को भी बलन्दी देती है।
भवदीय
चंचल

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »