आजमगढ़ में बढ़ते कोरोना मामले : लॉकडाउन पर हो सकता है बड़ा फैसला

सूरज जायसवाल

जिले में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले को देखते हुए, जिला प्रशासन कड़े कदम उठाने के फेर में नजर आ रहा है। इसे लेकर जिलाधिकारी आजमगढ़ के सभागार में अधिकारियों की एक बैठक भी हुई, जो देर रात तक चलता रहा। जिले में करोना ‘विस्फोट’ को देखते हुए प्रशासन के हाथ अब पांव फूल उठे हैं। कोरोना रोक थाम के साथ ही उसे अब बकरीद त्यौहार की भी चिंता खाए जा रही है। कोरोना संक्रमण को लेकर आहूत की गई इस बैठक में कई मुद्दों पर भी विचार विमर्श किया गया। कोरोना संक्रमितों की जांच पहले जिला मुख्यालय पर हुआ करती थी, अब यह व्यवस्था ब्लॉकों पर भी स्थापित कर दी गई है। इसके चलते ही संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ती आ रही हैं।

जिस गति से कोरोना के पाँजिटिव सामने आ रहे हैं, अगर इसे नियंत्रित नहीं किया गया तो आगे और भी स्थिति भयानक हो सकती है। इसे नियंत्रित करने के लिए ही प्रशासन सभी को जागरूक करने में अपनी ताकत झोंकी है। इसके बाद भी लोग सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते करते नजर आ रहे हैं। जिसके चलते जिले में कोरोना नियंत्रण से बाहर जाती दिखाई दे रही है। गांव देहात को छोड़िए शहर में ही कई कंटेनमेंट जोन बनाये जा चुके। स्थिति यह हो गई है कि कोरोना के चार सौ से अधिक एक्टिव केस यहां आ धमके हैं, और तेजी से इसमें इजाफा भी हो रहा है, जो चिंताजनक है।

जिले में संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान यहां कोरोना मरीजों की संख्या तब काफी कम थी, लॉक डाउन हटते ही अब इसमें जबरदस्त इजाफा देखने को मिल रही है। अब हालत यह हो गयी है कि प्रशासन को प्रतिदिन नए-नए कंटेनमेंट जोन भी बनाने पढ़ रहे है। इसके बाद भी हालात सुधरते नहीं दिख रहे हैं। इसी को लेकर बुधवार को जिलाधिकारी कार्यालय के सभागार में सभी अधिकारी रणनीति बनाते नजर आए। इस मौके पर कमिश्नर, डीआईजी, डीएम, एमएसपी, सीडीओ सहित जिले के सारे आला अधिकारी यहां बैठक में शामिल रहे।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »