कीमती धातुओं के तस्कर चढ़े जीआरपी डीडीयू के हत्थे भारी मात्रा में चांदी की सिल्ली बरामद

दिलदारनगर। पूर्व मध्य रेलवे के डीडीयू जीआरपी को रविवार की देर शाम एक बड़ी कामयाबी तब मिली जब प्लेटफॉर्म चेकिंग अभियान के दौरान ट्रेनों के माध्यम से कीमती धातुओं की तस्करी में संलिप्त दो तस्कर पकड़ में आ गए। जिनके पास से भारी मात्रा में चांदी की सिल्ली बरामद करते हुए जीआरपी द्वारा सोमवार को जेल भेज दिया गया। इस कामयाबी के बाबत रात 8:15 बजे के करीब प्रेस वार्ता आयोजित कर जीआरपी डीडीयू थाने के नवागत प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार दुबे ने बताया कि रेल अपराध की रोकथाम व अपराधियों की धरपकड़ के लिए अपर पुलिस महानिदेशक रेलवे लखनऊ, पुलिस अधीक्षक रेलवे प्रयागराज, क्षेत्राधिकारी रेलवे वाराणसी के गाइडलइन का अनुपालन करते हुए डीडीयू जंक्शन के सर्कुलेटिंग एरिया तथा प्लेटफार्म पर संदिग्ध यात्रियों की चेकिंग की जा रही थी। उसी दौरान प्लेटफार्म संख्या 3/4 के पूर्वी छोर स्थित स्लोपिंग सीढ़ी के पास दो युवक संदिग्ध अवस्था में बैग लिए नजर आए। दोनों को पकड़ने के बाद पूछताछ के दौरान संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने पर उनके पास से बरामद बैगों की तलाशी ली गई तो अभियुक्त भरत सरगर के बैग से 18 किलो 205 ग्राम वजन की चांदी की सिल्ली मिली और शरद सरगर के पास से बरामद बैग से 15 किलो 948 ग्राम की चांदी की सिल्ली बरामद की गई। दोनों आरोपित महाराष्ट्र प्रांत के कोल्हापुर जिला अंतर्गत हुपरी वार्ड नंबर 7 थाना हुपरी का निवासी होना बताया। दोनों अभियुक्तों के पास से बरामद कुल 34 किलो 162 ग्राम चांदी की सिल्ली की अनुमानित कीमत 25 लाख रुपए बताई जाती है। दोनों तस्करों की गिरफ्तारी और माल बरामदगी करने वाले टीम में जीआरपी डीडीयू थाने के एसएसआई डी पी यादव, एसआई अनिल कुमार चौरसिया, एचसी अमरजीत यादव, शिवगोविंद, शिव कुमार यादव, रजनीश सिंह, प्रभु नाथ यादव तथा कांस्टेबल रवि कुमार राय और विजय कुमार गौड़ शामिल रहे।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »