आयोजन : कोविड के दौरान डिजिटल मीडिया की प्रासंगिकता दिखी :प्रो संजय द्विवेदी

टेक्नोलॉजी और कंटेंट का मिश्रण है डिजिटल मीडिया: प्रो.बंदना पांडेय
सात दिवसीय कार्यशाला का हुआ समापन

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग एवं आइक्यूएसी सेल के संयुक्त तत्वावधान में चल रही सात दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का रविवार को समापन हुआ।
बतौर मुख्य अतिथि भारतीय जनसंचार संस्थान,नई दिल्ली के महानिदेशक प्रो० संजय द्विवेदी ने कहा कि महामारी के दौर में डिजिटल मीडिया ने हमारे सभी संवादों को सरल बनाया, यह टेक्नोलॉजी है इसे लाकडाउन के समय ऑफिस के काम को सरल बनाने के साथ-साथ हमलोगों को आपस में संवाद बनाने के लायक रखा।
डिजिटल मीडिया के चलते अखबारों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। टेक्नोलॉजी ने जितनी तेजी से प्रगति की। प्रिंट मीडिया ने उसे अपनाने में कोताही नहीं बरती। समय को देखते हुए आज पारंपरिक मीडिया हाउस डिजिटल मीडिया हाउस में बदल गए हैं।
सत्र की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर निर्मला यस मोर्य ने आयोजन समिति को बधाई देते हुए कहा कि पत्रकारिता मिशन है इसलिए जन से जुड़ी है। उन्होंने कहा कि इस कार्यशाला में चिंतन ज्यादा हुआ है जो हमारे विश्वविद्यालय के विकास के काम आएगा।
विशिष्ठ अतिथि गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय नोएडा की जनसंचार विभाग की अध्यक्ष प्रो० बन्दना पाण्डेय ने कहा कि डिजिटल मीडिया दैनिक जीवन की आवश्यकता बन गई है यह प्रौद्योगिकी और कंटेंट का मिश्रण है । आज की दुनिया डिजिटल उत्पाद से भरी है। आज की हर मीडिया डिजिटल कन्वर्नजेन्स हो गई है। उन्होंने कहा कि आने वाला समय आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का है।
कार्यक्रम का संचालन डॉ धर्मेंद्र सिंह ने किया।
कार्यशाला की पांच दिन की रिपोर्ट संयोजक डॉ मनोज मिश्र ने प्रस्तुत की।
स्वागत समन्वयक प्रो.मानस पांडेय एवं धन्यवाद् ज्ञापन डॉ० सुनील कुमार ने किया। तकनीकी सहयोग राना सिंह और वीर बहादुर सिंह ने किया। इस अवसर पर प्रो एके श्रीवास्तव, प्रो लता चौहान, डॉ बुसरा जाफरी, डॉ शालिनी शर्मा, सुमन शर्मा, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ अवध बिहारी सिंह, डॉ चंदन सिंह, डॉ अखिलेश चन्द्र, डॉ गीता सिंह, अभिषेक कटियार,डॉ पवन सिंह समेत विभिन्न प्रदेशों के प्रतिभागी शामिल हुए ।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »