• Thu. Oct 21st, 2021

समाचारों की विश्वसनीयता ही होती है पत्रकार की पहचान

ByAmarjit Rai

Jul 26, 2021

 

गाजीपुर। पत्रकार द्वारा लिखे गये या दिखाये गये समाचार की विश्वसनीयता ही उसकी पहचान होती है आज डिजिटल मीडिया के दौर मे समाचार को पहले दिखाने की होड़ मे पत्रकार समाचार की विश्वसनीयता पर ध्यान ही नही दे रहे जो पत्रकारिता के लिए चिंतनीय है। पत्रकार का मान- सम्मान भी उसके समाचार से जुड़ा होता है।
आज देश मे तमाम वेव पोर्टल व यूट्यूब चैनल चल रहे है और आये दिन इनके समाचारों पर प्रश्नचिन्ह लगते दिखते है जो पत्रकारिता के लिए घातक है।
उक्त वक्तव्य पत्रकारों की संस्था जर्नलिस्ट काउंसिल ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुराग सक्सेना ने वेवीनार में व्यक्त किया। उन्होने कहा कि पत्रकारिता का पहला नियम है कि कभी भी एकपक्षीय पत्रकारिता न हो। पत्रकार को चाहिए कि समाचार लिखने या दिखाने से पूर्व दूसरे पक्ष की भी बातें सामने रखे। ऐसा होने से समाचार की विश्वसनीयता बनी रहती है और पत्रकार मान-हानि के दावे से भी बचे रहते हैं।
आज देश मे पत्रकारों पर बढ़ रहे हमले के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि यह पत्रकारिता के लिए अत्यंत निन्दनीय और चिंतनीय है। सरकार का इस पर ध्यान न देना निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के लिए घातक है। अब केवल पत्रकारों की एकजुटता ही उन्हे सुरक्षित कर सकती है। इसके लिए यदि किसी पीड़ित पत्रकार की समस्या किसी भी पत्रकार साथी के संज्ञान मे आती है तो वे उसे प्रमुखता से अपने समाचार पत्र पोर्टल व चैनल में स्थान दे और अन्य पत्रकार साथियों को भी इसके लिए प्रेरित करे। इससे पीड़ित पत्रकार की समस्या जल्द ही उच्च अधिकारियों के संज्ञान मे आ जायेगी और उसका निराकरण भी हो जायेगा।आज निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के लिए पत्रकारों का एकजुट होना आवश्यक है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »