• Thu. Oct 21st, 2021

कलेक्टर साब! यह एक वरिष्ठ पत्रकार की मौत भर नहीं है बल्कि आप के हेल्थ सिस्टम की भी मौत है..?

Byadmin

Jul 29, 2021

०आरोप : गाजीपुर में वरिष्ठ पत्रकार की जिला अस्पताल में लापरवाही से मौत
० डीएम ने बैठाई जांच, एडीएम ने सौंपी जांच रिपोर्ट.

० शासन- प्रशासन से आर्थिक सहयोग कराने की मांग.
@ गाजीपुर से अमरजीत राय की रिपोर्ट :


इसे सिस्टम का नकारापन नहीं, तो और क्या नाम देगें- कि एक वरिष्ठ पत्रकार की जिला अस्पताल में आक्सीजन और देखरेख के अभाव में मौत हो जाती है, परिजन इसे अस्पताल प्रबंधन, चिकित्सक की घोर लापरवाही और उनकी खतरनाक कार्य-संस्कृति का आरोप लगाते हैं और अस्पताल प्रबंधन इससे पल्ला झाड़ता है.
अपनी पूरी उम्र पत्रकारिता को देने वाले इस 61 वर्षीय पत्रकार गुलाब राय की 27 जुलाई को मौत गाजीपुर जिला अस्पताल में हो जाती है. सच कहें तो यह केवल एक जनसरोकारी पत्रकार की ही मौत नहीं थी, बल्कि उत्तर प्रदेश के इस सीमांत जनपद की स्वास्थ्य-व्यवस्था और प्रशासनिक जवाबदेही की भी मौत थी. जिससे पत्रकारिता में भीतर तक पैठे असंतोष से गाजीपुर ही नहीं बल्कि पूर्वांचल की पत्रकारिता को भी भीतर तक हिला कर रख दिया, परिणामस्वरूप पत्रकार जिला अस्पताल के इस खतरनाक लापरवाही और अपने साथी की मौत की जांच की मांग करते हैं. पत्रकारिता के विरोध में सड़क पर आ जाने पर बचाव की मुद्रा में आया जिला प्रशासन के आला हाकिम ने प्रकरण की जांच के लिए 27 जुलाई को एडीएम (वित्त और राजस्व) को सरकारी फरमान पकड़ातें हैं और कहते हैं- ’28 जुलाई तक पूरे मामले की जांच रिपोर्ट दें.’ अपर जिलाधिकारी राजेश कुमार ने 28 को तो नहीं लेकिन 29 जुलाई को अपनी जांच रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दिया- ऐसा संकेत मिला है.

अब सवाल तो यह है कि यह जांच केवल जांच की गठरी बनाने और चौथे स्तंभ को फौरी तौर पर शांत करने के लिए किया गया या इसे निर्णायक मोड़ तक पहुँचा कर जिलाधिकारी गाजीपुर दोषियों को दंडित भी करेंगे.?
होना तो यह चाहिए था की जिम्मेदारी तय करते हुए इस मौत के लिए दोषी स्वास्थ्य कर्मियों को दंडित करते हुए कलेक्टर इस पत्रकार की मौत पर शासन से और अपने स्तर से आर्थिक सहयोग करा परिजनों के आंसू पोछने का प्रयास करतें.
क्योंकि पत्रकार अकेला नहीं मरता है, उसके साथ लोक चिंतन और जनसरोकारी सोच भी मरती है. वह लोकसेवक और जनवादी समाज का प्रतिनिधि होता है. गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और ‘आज’ हिंदी दैनिक के फोटो जर्नलिस्ट गुलाब राय के गतात्मा के प्रति यही प्रशासन की सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »