• Tue. Sep 21st, 2021

विटामिन ए की खुराक पिलाकर बाल स्वास्थ्य पोषण माह का किया शुभारंभ

ByAmarjit Rai

Jul 31, 2021

गाज़ीपुर।जिले में बाल स्वास्थ्य पोषण माह 28 जुलाई से शुरू हो चुका है। इसके अंतर्गत नौ माह से पाँच साल तक के बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाई जा रही है, जिसका औपचारिक रूप से शुभारंभ शनिवार को नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हाथीखाना पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरगोविंद सिंह ने बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाकर किया गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरगोविंद सिंह ने बताया कि नौ माह से पाँच साल तक के बच्चे जिसमें विटामिन ए की कमी की वजह से कई तरह की बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। ऐसे ही बच्चों को बीमारियों से बचाने के लिए विटामिन ए की खुराक पिलाई जा रही है। जनपद में करीब 4.85 लाख बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाए जाने का लक्ष्य रखा गया है, जिसे सभी ब्लॉक पर एएनएम, आशा व आंगनबाडी कार्यकर्ताओं द्वारा पिलाई जा रही है।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ उमेश कुमार ने बताया कि इस अभियान में नौ माह से पाँच वर्ष तक के बच्चों के लिए विटामिन ए की संपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन कर उन्हें विटामिन ए की खुराक से आच्छादित किया जाना है। उन्होंने बताया कि जिले में नौ माह से 12 माह के बच्चे जिनकी संख्या 26776 है उन्हें आधा चम्मच, 16 माह से 24 माह के बच्चे करीब 1.15 लाख हैं उन्हें पूरी चम्मच एवं दो साल से पाँच साल के बच्चे करीब तीन लाख हैं, जिन्हें पूरी चम्मच विटामिन ए की खुराक पिलाई जानी है । उन्होंने बताया कि विटामिन-ए शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक है। इसकी कमी स्वास्थ्य समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए शरीर में किसी भी विटामिन की कमी नहीं होनी चाहिए । शरीर में विटामिन-ए की कमी है तो हरी सब्जियां व फल आदि खाकर इसकी पूर्ति की जा सकती है, विटामिन-ए की कमी से आंखों में रतौंधी (रात में दिखाई देने में मुश्किल), आंख के सफेद हिस्से में धब्बे तथा कॉर्निया सूखना शुरू हो जाता है। इसके बाद कॉर्निया में घाव हो जाते हैं और यह अपारदर्शी हो जाता है। ठीक इलाज के अभाव में इससे स्थाई अंधापन भी हो सकता है, जोकि सहसा दोनों आंखों में होता है। रात के समय चलने में लड़खड़ाना, टटोलना रतौंधी के लक्षण हैं। यह बीमारी विटामिन- ए से पूरी तरह से ठीक हो जाती है लेकिन धब्बे इलाज के बावजूद भी बने रहते हैं।

इस अवसर पर डॉ प्रगति कुमार ,डॉ एस डी वर्मा, यूनिसेफ के अजय उपाध्याय ,डीसीपीएम अनिल वर्मा न्यूट्रिशन इंटरनेशनल की अपराजिता सिंह,अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर अशोक ,डॉ इशानी वर्धन, सदर सीडीपीओ सोना सिंह ,सहायक लेखाकार अमित राय के साथ ही अर्बन क्षेत्र  की आशा और आंगनबाडी कार्यकर्ता व भारी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »