बिष्णुदेव गुप्त के बताए हुए रास्ते पर चलना ही उनके प्रति होगी सच्ची श्रद्धांजलि :- अफलातून

विष्णुदेव गुप्त समाजवादी विचारधारा का चोला ओढ़कर आजीवन गरीबों, मज़लूमों व मेहनतकशों के हक हकूक की लड़ाई लड़ते रहे

 

० मधुबन में मनाई गई महान सेनानी बिष्णुदेव की पुण्यतिथि

घोसी (मऊ)। सुप्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व पूर्व विधायक समाजवादी नेता विष्णुदेव गुप्त की पुण्यतिथि पर गुरुवार को मधुबन स्थित राममनोहर लोहिया उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के परिसर में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन हुआ। जिसमें विद्यालय परिसर में स्थापित उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण उपरांत स्व० गुप्त के व्यक्तित्व का स्मरण करते हुए उनके पदचिन्हों पर चलने का आह्वान किया।
मुख्य अतिथि के रूप में पधारे प्रख्यात समाजवादी चिंतक अफलातून ने कहा कि स्व० विष्णुदेव गुप्त समाजवादी विचारधारा का चोला ओढ़कर आजीवन गरीबों, मज़लूमों व मेहनतकशों के हक हकूक की लड़ाई लड़ते रहे। सात बार चुनाव हारने के बाद भी कभी सिद्धान्तों से समझौता नहीं किया। उनके बताए हुए रास्ते पर चलना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रेस कौंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य व लोकतंत्र सेनानी जयशंकर गुप्त ने अपने अध्यक्षीय उदबोधन में स्व० गुप्ता का स्मरण करते हुए उन्हें एक सच्चा समाजवादी योद्धा बताया। उन्होंने श्री गुप्त को सादगी व ईमानदारी की प्रतिमूर्ति बताते हुए कहा कि आज के नेताओं को उनकी कार्यशैली से सीख लेकर देश को रचनात्मक दिशा में ले जाकर समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के सर्वांगीण विकास का संकल्प लेना चाहिए। उनके विचारों को आत्मसात करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।


इस श्रद्धांजलि सभा में जहां मुख्य रूप से विक्रमा मौर्य, रामकेवल चौहान, अजय गुप्ता, राजेन्द्र चौधरी, रजनीश बर्नवाल, शिवानन्द गुप्ता, अरविंद मूर्ति, सीताराम यादव, सनजयदीप कुशवाहा, गोमती यादव, अवधेश बागी, विपिन बिहारी पाठक आदि ने अपने विचार व्यक्त किये वहीं विंध्याचल यादव, मु० असलम, विमलकृष्ण राय, सुहेल अहमद, सुनील पांडेय, बृजेश जायसवाल, वीरेंद्र चौरसिया, एकबाल अहमद, अरविंद यादव आदि ने अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।
श्रद्धांजलि सभा का संचालन शैलेष कुमार मोनू ने किया अंत में विद्यालय के प्रबंधक रजनीश बर्नवाल ने सभी आगन्तुकों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »