पार्टियों की मांग पर चुनाव आयुक्त वोटिंग तारीख पर आज लेगा निर्णय, जानिए पूरी खबर

विधान सभा चुनाव के लिए चुनाव आयुक्त ने पांचों राज्यों की वोटिंग की तारीखें घोषित कर दी थी। लेकिन क्या पंजाब विधान सभा चुनाव के लिए वोटिंग की तारीख को 14 फरवरी से आगे बढ़ाया जा सकता है। पंजाब की कई राजनीतिक पार्टियों ने वोटिंग की तारीख को आगे बढ़ाने की चुनाव आयोग (EC) से मांग की है। सूत्रों के मुताबिक, चुनाव आयोग इस मुद्दे पर आज बैठक करेगा।

Analyzing the power of the Election Commission to de-register a political  party - iPleaders

जानकारी के मुताबिक, चुनाव आयोग कांग्रेस (Congress), बीजेपी (BJP) और पंजाब लोक कांग्रेस (PLC) पार्टी की तरफ से मिले लेटर पर विचार करेगा। इन राजनीतिक पार्टियों का कहना है कि 14 फरवरी को रविदास जयंती की वजह से अनुसूचित जाति के लोग बड़ी संख्या में पंजाब से बाहर वाराणसी जा सकते हैं। ऐसे में वो वोट नहीं डाल पाएंगे इसलिए चुनाव की तारीख को 14 फरवरी से आगे बढ़ा दिया जाए।

कांग्रेस, बीजेपी और पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी की मांग है कि पंजाब विधान सभा चुनाव के लिए वोटिंग की तारीख को 14 फरवरी के बजाय 16 फरवरी कर दिया जाए। अनुसूचित वर्ग के लोग वोटिंग के अधिकार से वंचित नहीं होने चाहिए।

Election in times of COVID-19; Kerala mulls over postal, proxy votes |  COVID-19| local body elections in Kerala| elections to local self  government institutions

बता दें कि पंजाब में विधान सभा एक चरण में होगा। 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे और 10 मार्च को नतीजे आएंगे। बीते 8 जनवरी को चुनाव आयोग ने पंजाब विधान सभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था।

गौरतलब है कि पंजाब में इस वक्त कांग्रेस की सरकार है। विधान सभा चुनाव में कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, अकाली दल और बीजेपी-पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी के गठबंधन के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है। सभी राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »