“हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी उसे आज बुझा दिया जाएगा”: Rahul Gandhi

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के इंडिया गेट पर बीते 50 साल ले जल रही अमर जवान ज्योति का आज राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में जल रही ज्योति में विलय किया कर दिया जाएगा। जिसे लेकर सियासत गर्म हो गई। इस फैसले पर केंद्र की मोदी सरकार पर विपक्ष हमला कर रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बहुत दुःख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा। कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते- कोई बात नहीं, हम अपने सैनिकों के लिए अमर जवान ज्योति एक बार फिर जलाएँगे! राहुल गांधी मोदी सरकार पर ट्वीट के जरिए निशाना साधा है।

Amar Jawan Jyoti National War Memorial Indian army officers reacts - Amar  Jawan Jyoti News: राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में रोशन होगी अमर जवान ज्योति,  सेना के दिग्गजों ने फैसले पर जताई ...

इस मामले पर केंद्र सरकार का कहना है कि वह अमर जवान ज्योति को बुझा नहीं रही है, बल्कि उसका कुछ ही दूरी पर बनाए गए राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की ज्वाला में विलीन किया जा रहा है। केंद्र का कहना है कि, “अमर जवान ज्योति के स्मारक पर 1971 और अन्य युद्धों के शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाती है, लेकिन उनके नाम वहाँ नहीं हैं। इंडिया गेट पर केवल कुछ शहीदों के नाम अंकित हैं, जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध और एंग्लो-अफगान युद्ध में अंग्रेजों के लिए लड़ाई लड़ी थी। यह हमारे औपनिवेशिक अतीत का प्रतीक है।”

National War Memorial( राष्ट्रीय युद्ध स्मारक) | KENDRIYA VIDYALAYA GOMTI  NAGAR

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि “इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक की ज्योति में शुक्रवार को समारोहपूर्वक विलय किया जाएगा। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता एकीकृत रक्षा स्टाफ प्रमुख एयर मार्शल बलभद्र राधा कृष्णा द्वारा की जाएगी। इंडिया गेट का निर्माण अंग्रेज सरकार ने 1914 से 1921 के बीच शहीद ब्रिटिश भारतीय सैनिकों की याद में किया था।” बता दें कि, 1972 में इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति का निर्माण हुआ था। इसका निर्माण 1971 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में सर्वोच्च बलिदान जेने वाले सैनिकों की याद में किया गया था। इस युद्ध के 50 वर्ष पूरे होने पर अब इसे राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय करने की योजना बनाई जा रही है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »