UP Election 2022: वह मुझसे प्यार करते हैं… मुसलमानों से रिश्ते पर CM योगी का जवाब

UP Election 2022:  उत्तर प्रदेश चुनाव को 80:20 की लड़ाई बताने को लेकर विपक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर विभाजन की राजनीति का आरोप लगा रहा है। विपक्ष इसे हिंदू बनाम मुस्लिम बनाने की कोशिश बता रहा है तो सीएम योगी इसकी अलग परिभाषा देते हैं। इस बीच उन्होंने मुसलमानों के साथ रिश्ते को लेकर भी जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि मुसलमान उनसे प्यार करते हैं और वह भी उनसे प्यार करते हैं।

वह मुझसे प्यार करते हैं... मुसलमानों से रिश्ते पर मुख्यमंत्री योगी का जवाब - Ghazipur News ✓ | ग़ाज़ीपुर हिन्दी न्यूज़ | UP News ✓

एक टीवी इंटरव्यू में सीएम योगी से पूछा गया कि आपने कहा कि मुसलमानों से मेरा रिश्ता वही है, जो उनका मुझसे है, इसका मतलब क्या है? इसके जवाब में योगी आदित्यनाथ ने कहा, ”मेरा वही रिश्ता है, मुझसे उनका जैसा व्यवहार है, मेरा उनके साथ वही व्यवहार है। वह मुझसे प्यार करते हैं, मैं उनसे प्यार करता हूं।” एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ”देश संविधान चलना चाहिए। बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर और महान स्वतंत्रता सेनानियों ने देश को संविधान दिया है, देश में 135 करोड़ लोगों के लिए काम करना है। यह व्यक्तिगत कानून से नहीं चल सकता है। संविधान से ही चलेगा देश। गजवा-ए-हिंद का सपना कयामत के दिन तक भी पूरा नहीं होगा। आज फिर मैं कह रहा हूं।”

The Muslims voting for the BJP are richer, more educated and conservative

एक अन्य टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सीएम योगी ने कहा, ”80 फीसदी सीटें भारतीय जनता पार्टी ने 2014 में जीतीं, 80 फीसदी 2017 में जीतीं, 80 फीसदी सीटें 2019 में जीतीं और फिर एक बार 300 पार का लक्ष्य जब प्राप्त होगा, तो 80 फीसदी सीटें भारतीय जनता पार्टी की झोली में जाएंगी। उन्होंने कहा कि विकास और लोक-कल्याण का जितना कार्य भाजपा की डबल इंजन की सरकार ने किया है, इससे पहले कभी नहीं हुआ था।

 

सपा पर आतंकियों से कनेक्शन का आरोप लगाने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में योगी ने कहा, ”इसमें कोई संदेह है क्या, आप बेशर्मी से आतंकियों को सपोर्ट करेंगे, क्या इसलिए आपने पार्टी का रजिस्ट्रेशन करावाया है। 2003-04 से लेकर 2007-08 तक जितनी आतंकी घटनाएं हुईं, क्या सपा सरकार में नहीं हुई। 2013 में जब सपा की सरकार थी, अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे, क्या यह सच नहीं है कि उन्होंने केस वापस लेने का प्रयास किया था, जिन्होंने अयोध्या में राम जन्मभूमि पर आतंकी हमला किया था, काशी से संकटमोचन मंदिर पर हमला किया था, लखनऊ, अयोध्या और काशी की कचहरियों पर हमला किया था। बिजनौर में ब्लास्ट किए थे। क्या यह सच नहीं है कि अहमदाबाद बम ब्लास्ट के लिए जिस आतंकी को फांसी हुई है, आजमगढ़ का वह आतंकी जिसका पिता सपा का सक्रिय सदस्य है, अखिलेश जी के साथ उनकी फोटो है, उन्होंने अब तक खंडन नहीं किया है।”

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »