ईरान ने कहा: अमेरिका जिम्मेदार देश की तरह व्यवहार करे, हमले का करारा जवाब देंगे

खाड़ी देश में बढ़े तनाव के बीच ईरान नें अमेरिका को चेताया है। ईरान ने कहा कि क्षेत्र में अमेरिकी हमले का करारा जवाब देंगे। ईरान की सेना ने कहा कि क्षेत्र में शुरू हुआ संघर्ष अनियंत्रित हो सकता है और अमेरिकी सैनिकों की जान खतरे में पड़ सकती है। वहीं अमेरिका ने ईरान को आगाह करते हुए कहा कि ईरान पर हमले को आखिरी क्षण में रद्द करने के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को ईरान कमजोरी समझने की भूल न करे।

ईरानी सेना के  शीर्ष कमांडर मेजर जनरल गोलाम अली राशिद ने कहा है कि ईरान अपने खिलाफ होने वाली किसी भी तरह की अमेरिकी सैन्य कार्रवाई का पूरा जवाब देगा। राशिद ने कहा कि अमेरिका, यहूदी और सऊदी गठबंधन के खिलाफ ईरान अपनी संप्रभुता, अस्तित्व तथा इस क्षेत्र की स्थिरता को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। अमेरिका को एक जिम्मेदार देश की तरह व्यवहार करना चाहिए और इस क्षेत्र में किसी भी तरह के गलत व्यवहार से बचना होगा। हम न तो युद्ध के पक्ष में थे और न ही हैं लेकिन अगर हम पर कोई हमला  होता है तो अपने हितों की रक्षा बखूबी करेंगे। ईरान की सेना द्वारा एक शक्तिशाली अमेरिकी ड्रोन को मार गिराए जाने के बाद से क्षेत्र में तनाव बरकरार है। ट्रंप ने हमले का आदेश भी दे दिया था पर आखिरी मिनटों में उन्होंने इसे वापस ले लिया।

 

सेना हर परिस्थिति के लिए तैयार : बोल्टन
इस बीच अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने ईरान को आगाह किया है। उन्होंने कहा कि तेहरान पर जवाबी हमले को आखिरी क्षणों में रद्द करने के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को कमजोरी समझने की भूल न करे। बोल्टन ने कहा कि हमारी सेना में नई ऊर्जा है और वह हर परिस्थिति के लिए तैयार है। बोल्टन ने येरुशलम में इजरायली प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू के साथ बैठक से पहले कहा कि न ही ईरान को और न ही किसी अन्य शत्रु राष्ट्र को अमेरिका के विवेक को कमजोरी समझने की भूल करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी ने भी उन्हें पश्चिम एशिया में हमले करने का लाइसेंस नहीं दिया है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »