मोहम्मद कैफ बोले- धोनी में अभी बहुत क्रिकेट बचा है, उन्हें T20 वर्ल्ड कप खेलना चाहिए

क्रिस श्रीकांत, गौतम गंभीर और वीवीएस लक्ष्मण के बाद पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने भी महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य को लेकर अपनी राय दी है। कैफ ने धोनी का समर्थन करते हुए कहा कि कि इस विकेटकीपर-बल्लेबाज में अभी बहुत क्रिकेट बचा है और आईसीसी मैन्स टी20 वर्ल्ड कप उन्हें शामिल न करना उनका साथ अन्याय होगा। कोरोना वायरस की वजह से आईपीएल 2020 अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया है। ऐसे में कई दिग्गजों का कहना है कि अगर आईपीएल नहीं होता तो धोनी की कमबैक करना काफी मुश्किल हो जाएगा। ऐसे में कैफ ने धोनी की टीम इंडिया में वापसी की वकालत की है।

मोहम्मद कैफ ने एएनआई से कहा, ”लोगों की निगाहें इस बात पर थीं कि धोनी आईपीएल में कैसा परफॉर्म करते हैं। इसके  बाद ही टी20 वर्ल्ड कप की बात होनी थी। लेकिन मेरा विचार है कि धोनी को आईपीएल फॉर्म पर जज नहीं किया जाना चाहिए। वह एक महान बल्लेबाज हैं। वह आईपीएल खेलना चाहते थे और चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी करना चाहते थे। वह आईपीएल में अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करना चाहते थे। जीतना उनकी मानसिकता है और वह जानते हैं कि मैच कैसे जीते जाते हैं।”

उन्होंने कहा, ”इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें टीम से बाहर किया जाना सही नहीं है।” धोनी ने 2019 के विश्व कपसेमी फाइनल में आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। इस मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद से ही धोनी के संन्यास को लेकर समय-समय पर खबरें आती रहीं, लेकिन पूर्व कप्तान ने इस पर चुप्पी साधे रखी। अब आईपीएल में उनकी वापसी होनी थी, जो कोरोना वायरस की वजह से अधर में लटक गई है।

मोहम्मद कैफ ने कहा कि वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में असफलता के बावजूद महेंद्र सिंह धोनी चैंपियन खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा, ”सेमीफाइनल में हर व्यक्ति यह उम्मीद कर रहा था कि धोनी टीम को जीत दिलाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। लिहाजा धोनी को अब टीम में नहीं होना चाहिए। लेकिन मेरे लिए धोनी एक चैंपियन खिलाड़ी हैं। लोगों को धोनी के पिछले 10-15 सालों के रिकॉर्ड देखने चाहिए। अगर उन्हें टीम से बाहर किया जाता है तो यह बहुत बुरा होगा।”

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2020 ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक खेला जाना है। कोरोना वायरस के कारण स्थगित हो रहे क्रिकेट टूर्नामेंट को लेकर कैफ ने कहा कि इस समय खेलों से ज्यादा महत्वपूर्ण जीवन है। जब स्थितियां बेहतर होंगी तो तब खेल के बारे में सोचा जा सकता है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »