प्राइमरी स्कूलों के लिए 69000 सहायक अध्यापक भर्ती रिजल्ट जारी हुआ, देखें डिटेल्स

69000 shikshak bharti result 2020 declared: लंबी कानूनी प्रक्रिया और इंतजार के बाद आज 69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा का फाइनल परिणाम जारी  कर दिया गया।

6 जनवरी 2019 को आयोजित परीक्षा के लिए पंजीकृत 431466 अभ्यर्थियों में से 409530 सम्मिलित हुए थे। इनमें से 146060 (35.66 प्रतिशत) सफल हैं। सामान्य वर्ग के 36614, ओबीसी 84868, एससी 24308 और एसटी के 270 अभ्यर्थी पास हैं।

कोर्स के अनुसार बात की जाए तो डीएलएड (बीटीसी) करने वाले 38610, शिक्षामित्र 8018, बीएड 97368 और अन्य पाठ्यक्रम करने वाले 2064 अभ्यर्थी सफल हैं। परीक्षा में सम्मिलित अभ्यर्थी अपना परिणाम बुधवार से वेबसाइट पर देख और डाउनलोड कर सकेंगे।

13 मई, बुधवार को रिजल्ट जारी होते ही आपको यहां अपडेट किया जाएगा। रिजल्ट जारी होने के बाद उम्मीदवार परीक्षा नियामक की वेबसाइट आधिकारिक वेबसाइट http://atrexam.upsdc.gov.in/ पर अपना रिजल्ट देख सकते हैं।

रिजल्ट का नोटिस-

परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में होगी नियुक्ति
69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा के जरिए उत्तर प्रदेश के परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापकों की नियुक्ति की जानी है। आपको बता दें कि भर्ती की फाइनल आंसर की पहले ही जारी की जा चुकी हैं।  रिजल्ट का इंतजार कर रहे परीक्षार्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी ( उत्तर प्रदेश, प्रयागराज ) की आधिकारिक वेबसाइट atrexam.upsdc.gov.in पर जाकर रिजल्ट चेक कर सकेंगे। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र एसोसिएशन ने 69000 सहायक शिक्षक भर्ती मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ सोमवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया। वकील गौरव यादव की ओर से दायर इस याचिका में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाने या उसे रद्द करने की मांग की।

परिणाम जारी करने से पहले होगी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में बैठक-
परिणाम घोषित होने से पहले परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में परीक्षा समिति की बैठक होगी, जिसमें पाठ्यक्रम से बाहर के हिन्दी साहित्य के तीन प्रश्नों को लेकर निर्णय होगा। अंतिम उत्तरमाला में इन प्रश्नों को डिलीट कर दिया गया है। इसमें सभी अभ्यर्थियों को समान रूप से हर प्रश्न के लिए एक-एक (कुल तीन-तीन) अंक मिलेंगे या इन्हें हटाकर 147 अंकों पर मेरिट बनेगी, इसका फैसला परीक्षा समिति की बैठक में होगा।

पिछले सप्ताह बुधवार को हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती 60-65 प्रतिशत अंकों के आधार पर तीन महीने के अंदर करने का आदेश दिया था। आदेश के मुताबिक सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को 150 में 65 फीसदी और आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 60 फीसदी अंक लाने होंगे। इसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया था कि कोर्ट के निर्णय के क्रम में एक सप्ताह के भीतर 69000 शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया सुनिश्चित कराएं।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »