वैश्विक हलचल : पर्दे के कलाकार का खेल तो विश्व ने देख लिया अब बारी है उसका जौहर देखने की जिसे दुनियाँ “अबला” कहती है.

अब वक़्त की नजाकत देखिये, ताइवान की महिला राष्ट्रपति ने एक बार फिर चीन को धमकाया है-“भूल कर भी इधर देखने की हिमाकत मत करना.”.पर्दे के कलाकार का खेल तो…

0Shares

बिजली उत्पादन के क्षेत्र में पिछले पांच साल भाजपा ने कुछ नहीं किया: अखिलेश यादव

न्यूज़ ऑफ इंडिया (एजेंसी) लखनऊ:समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भीषण गर्मी के बीच अघोषित बिजली कटौती से प्रदेश की जनता झुलस…

0Shares

चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता में 15वें वित्त आयोग की बैठक संपन्न

न्यूज़ ऑफ इंडिया ( एजेंसी) लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में आज आयोजित 15वें वित्त आयोग की राज्य स्तरीय समिति की बैठक में वित्तीय…

0Shares

पुस्तक समीक्षा : तस्मै श्री गुरवे नमः ‘इतिहास हुआ एक अध्यापक’

                                            –डॉ.सुषमा देवी विवेच्य ग्रंथ ‘इतिहास हुआ एक अध्यापक’ के ग्रंथनायक डॉ. प्रेमचंद्र…

0Shares

Azamgarh : एक विश्वविद्यालय महान कैसे बन सकता है..?

बहुप्रतीक्षित महाराजा सुहेलदेव राज्य विश्वविद्यालय, आजमगढ़ की संग- ए- बुनियाद भाजपा सरकार ने रख दिया है. यह आजमगढ़ मंडल के शैक्षणिक विकास और अनुसंधान के लिए मील का पत्थर साबित…

0Shares

बलिया के पत्रकारों ने लुटियंस और महानगरीय पत्रकारिता को आईना दिखा दिया..!

० 28 दिन बाद आज जमानत पर रिहा हुए तीनों पत्रकार. ० 30 अप्रैल को यथावत रहेगा जेल भरो आंदोलन “ये जब्र भी देखा है तारीख़ की नज़रों ने, लम्हों…

0Shares

रूस यूक्रेन विवाद : रंगमंच का कोई कलाकार कमज़ोर नहीं होता जनाब! यह तो वक़्त है जो जोकर से हीरो और हीरो से जोकर बना कर किसी को इतिहास के कुड़ेदान में तो किसी को आकाश गंगा में अमर कर देता है….

  जेलेन्सकी उन राष्ट्रों के लिए आकाश दीप बना रहेगा जो अपनी शर्तों पर राष्ट्रीय हितों के पोषण में आस्था रखते हैं. – अशोक कुमार सिंह किसी राष्ट्र के नेता…

0Shares

पंजाब फतेह के बाद अब केजरीवाल के ‘दिल्ली मॉडल’ का मोदी के ‘गुजरात मॉडल’ से सीधा मुकाबला!

आंदोलन ने एक आम नौकरशाह को एक नई पहचान और मुकाम भी दिया. आंदोलन ने केजरीवाल को पैदा किया और केजरीवाल ने ‘आप’- आम आदमी पार्टी.   @ डॉ अरविंद…

0Shares

टिप्पणी : क्या सपा का चुनावी कैंपेनिंग अखिलेश का ‘वनमैन शो’ बन कर रह गया..?

  क्या इस नवीन धारणा में कोई बल है कि अखिलेश यादव के समाजवादी पार्टी की राजनैतिक हैसियत अब ‘ वनमैन शो’ बन कर रह गयी है. जिसके मास्टर वे…

0Shares

झलकियाँ : एक अखिलेश यहाँ भी लड़ रहे हैं, जिनके लिए सहानुभूति सबसे बड़ी हथियार बन गयी है

(लोकतंत्र का लोक दृश्य-2) बावजूद मुबारकपुर के अखिलेश को सैफई के अखिलेश पर पूरा विश्वास था कि नेता जी इस बार उनके साथ उनकी मेहनत पर पानी नहीं फिरने देगें.…

0Shares
हिंदी »