हुनरबाज़ : अपने शहर के प्रिया को जानते हैं आप?

यह प्यारी सी नाजुक सी लड़की जिसका नाम प्रिया है, जिसे आप परिश्रम की पराकाष्ठा कह सकते हैं । यह लड़की जब मेरे पास आई तो मैंने पेंटिंग सिखाना बंद…

0Shares

शख्सियत : क्या आप मिदनापुर के इस महानायिका को जानते हैं? नाम है पूरबी महतो.. जिसने हथियारों का मुख मोड़ दिया..

वह कोई नायिका नहीं है लेकिन किसी नायिका से कम नहीं है.वह देश की राजधानी दिल्ली से दूर पश्चिम बंगाल की नायिका है. जिसके जज्बात और दिलेरी ने हथियार बंद…

0Shares

जब भी एक स्त्री खुलकर जीती है वह लांछना बन जाती है

स्त्री विमर्श पर न जाने कितनी पुस्तकें पढ़ चुकी होउंगी , लेकिन मृदुला गर्ग मैम को पढ़ना हर बार अचंभित करता है । कठगुलाब और उसके हिस्से की धूप पढ़ने…

0Shares

हौसलों की उड़ान से कल्पना पहुंची मुकाम

प्रेरक व्यक्तित्व : हमारे देश में महिलाओं की ऐसी भी प्रतिभाएं हैं, जो गरीबी की वजह से कम शिक्षा मिलने के बावजूद अपनी क्षमता को आगे बढ़ाती हुई समाज के…

0Shares

जिलाधिकारी आजमगढ़ के कान्सेप्ट ‘बधाई हो आपको बिटिया हुई है’ को महिला कल्याण मंत्री स्वाती ने सराहा, किया वन स्टाँप सेन्टर का शिलान्यास

आजमगढ़ 01 फरवरी– मा0 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), महिला कल्याण, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार, उ0प्र0 सरकार श्रीमती स्वाती सिंह द्वारा डीएवी पीजी कालेज आजमगढ़ में वन स्टाॅप सेन्टर का शिलान्यास…

0Shares

शाहीनबाग को आबाद करतीं ख्वा़तीनों की बगा़वती आवाज़ें राजसत्ता से टकराने का लौह जज़्बा और इस्पाती इरादा रखतीं हैं?

@अरविंद सिंह दिल्ली के शाहीनबाग को बग़ावत और इन्कलाब की आवाज़ बनते हुए हम देख रहे हैं। केसर की क्यारी से समंदर की लहरों तक, शाहीन बाग का विस्तार होते…

0Shares

इमरान के इस्तीफे की मोहलत समाप्त, प्रदर्शनकारियों ने दी पूरा देश बंद करने की धमकी

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्तीफे के लिए दी गई समयसीमा रविवार रात समाप्त हो जाने के बाद देश के धर्मगुरु एवं नेता मौलाना फजलुर रहमान ने पूरे देश…

0Shares

जानें, कहां है एक गधे की कीमत 4.50 लाख रुपये

उत्तर प्रदेश के आगरा में बटेश्वर के ऐतिहासिक पशु मेले में घोड़ों के बाद ऊंटों का मेला भी सिमटने लगा है। रेगिस्तान के जहाज का बेड़ा वहां नजर नहीं आ…

0Shares

टॉयलेट में न ले जाएं मोबाइल, नहीं तो पड़ेगा पछताना

टॉयलेट में पहले पेपर, मैगज़ीन ले जाकर फ़ुरसत से बैठने की आदत की जगह आजकल मोबाइल के साथ टाइम पास ने ले ली है। कई बार तो ऐसा भी होता…

0Shares

नए कानून से कहां आई बेरोजगारी और क्यों

यह चंद उदाहरण है। जिन्होंने कई माह पहले ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया। किसी का डीएल नवीनीकरण का आवेदन था, किसी ने पता बदलवाने के लिए आवेदन किया था।…

0Shares
हिंदी »