मैं हजार बार इन मासूम आंखों में स्वयं को मरते हुए देख रहा हूँ..?

@अरविंद सिंह ये तस्वीरे क्या आप को रूलाती नहीं हैं। ये मंजर क्या आप के भीतर सिहरन पैदा नहीं करते हैं। ये दृश्य आप के अस्तित्व पर सवाल खड़ा नहीं…

0Shares

कोरोना से जंग के लिए MP और MLA फंड नहीं, अपनी तनख्वाह से कितना दे रहे हैं जनाब?

– बीरेन्द्र सिंह मित्रों नमस्कार ! भारत ही नहीं पूरा विश्व इस समय कोरोना वायरस के प्रभाव में आ चुका है। विश्व की बहुत सारी शक्तियां इस वायरस के सामने…

0Shares

मिलार्ड! दिल्ली जल नहीं रही थी,बल्कि जलायी जा रही थी, हाईकोर्ट के आदेश के बाद आखिरकार कैसे हरकत में आ गया वही नपुंसक सिस्टम?

@अरविंद सिंह यह दिल्ली में ‘गुजरात माडल’ का विस्तार है या दिल्ली को गुजरात बनाने की शुरुआत। यह शाहीनबाग के शांतिपूर्ण विरोध और आंदोलन को तितर-बितर करने की हिंसक साजिश…

0Shares

साहिब के जुदाई में बौराइये नहीं, अभी सफ़र लम्बा है…. कल और आएंगे नग़मों की खिलती कलियाँ चुनने वाले, मुझसे बेहतर कहने वाले, तुमसे बेहतर सुनने वाले ।

–अभिषेक सिंह नीरज गुप्त सूत्रों के हवाले से….. बेसिक शिक्षाधिकारी आजमगढ़ अब हमारे बीच नहीं रहे।शासन से मंडलायुक्त ने निलंबन की संस्तुति की थी जिसपे शासन ने गंभीरता दिखाते हुए…

0Shares

जो चाल चलेगा हिटलर की हिटलर की तरह मिट जाएगा !

पुत्तन गुरु उवाच ——————- प्रदीप कुमार ●●●●●●●●●●●●●●●● सुबह की पहली चाय पीने के बाद मुँह में अभी पान का बीड़ा डाला ही था कि पीठ पर धपाक से ऐसी धौल…

0Shares
हिंदी »