• Sun. Jan 24th, 2021

दिल्ली को ज़द में लिए देशभर से पहुंचे किसान, भोजन की व्यवस्था संभाल लिए स्वयं सेवी संगठन

ByArvind Singh

Nov 28, 2020

@-पंकज चतुर्वेदी
पंजाब हरियाण के किसान अभी सिन्धु बोर्डर पर जमें हैं , उधर उत्तर प्रदेश से राकेश टिकैत के साथ किसान दिल्ली पहुँचने वाले हैं, किसान यूनियन अम्बावत गुट के लोग भी आ रहे हैं. मध्य प्रदेश में मुरैना के पास किसान जमा हैं , राजस्थान से भी आ रहे हैं.उधर पुलिस भी, जहां कहीं आंदोलनकारी किसान आते दिख रहे हैं, उन्हें बस में भर कर बुराड़ी के निरंकारी मैदान भेज रही है. वहां मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के लोग भी हैं – शायद नर्मदा बचाओं आन्दोलन से जुड़े लोग हैं. अभी कुछ देर ले वहां आदिवासी नृत्य भी हुआ .गुजरात से लोकसंघर्ष मोर्चा गुजरात के बैनर तले आए रतिलाल पानयभाई ने बताया, -“23 तारीख से निकले हुए हैं, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और राजस्थान और यूपी के बॉर्डर पर हमे 25 तारीख से 27 नवंबर तक रोका हुआ था. हमें नेशनल हाईवे-3 पर पुलिस ने रोकने के बाद कल आने दिया था. हम लोगों का दिल्ली पहुंचने का मिशन था. किसान अन्नदाता है, देश दुनिया को खिलाता है. हमारा रोजगार छिन जाएगा तो दुनिया क्या खाएगी.”
एक अनुमान है कि यदि पंजाब हरियाणा के सभी किसान यहाँ आने को राजी हो जाते हैं तो कोई तीन लाख लोग होंगे. उनके साथ कई हज़ार ट्रेक्टर, कार, व अन्य वाहन भी हैं
उधर युनायटेड अगेंस्ट हेट ने भी बड़े स्तर पर भोजन व्यवस्था शुरू कर दी है . दिल्ली की 25 मस्जिदों के साथ मिल कर आंदोलनकारियों को न सिर्फ खाने-पीने की चीजें, बल्कि रहने के लिए जगह भी मुहैया कराने का जिम्मा उठा लिया है। UAH के मुखिया नदीम खान ने कहा कि -आंदोलन कर रहे लोगों को मदद पहुँचाने के लिए हरसंभव प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 4 किचन पूरे 24 घंटे चलाए जा रहे हैं, ताकि आंदोलनकारियों को भोजन मुहैया कराया जा सके। हौज खास, रोहतक, ओखला और ओल्ड दिल्ली में ये किचन स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन 4 जगहों के अलावा आंदोलनकारियों को उनकी माँग के हिसाब से पार्सल भी पहुँचाए जा रहे हैं। गाड़ियों का इस्तेमाल कर भोजन पैकेट्स आंदोलनकारियों तक पहुँचाया जा रहा है।
वैसे बुराड़ी का मैदान साफ़ है, सचल शौचालय और पानी के टेंकर आ गए हैं .
सबसे बड़ी बात कई संगठन राशन पानी ले कर पहुंच गये हैं ताकि अन्नदाता की आवभगत हो सके .दिल्ली के कई जगहों से लोग बुराड़ी के निरंकारी मैदान पर जुटे किसानों के लिए लंगर लेकर आ रहे हैं, ताकि किसी तरह की कोई कमी न आए. गुरु की लंगर सेवा सन 1987 से गरीब लोगों को लंगर खिलाते आ रहे परविंदर सिंह एक सेवादार हैं. उन्होंने कहा, “हम लोग गरीबों को लंगर खिलाते हैं और आज हम लोग यहां आए हैं अगर भविष्य में फिर यही जरूरत पड़ी तो हम आएंगे.”
निरंकारी मैदान में पुलिस और सीआईएसएफ का पहरा तैनात किया गया है. जानकारी के अनुसार सीआईएसएफ को साफ निर्देश दिए गए हैं कि मैदान में कई सारे संगठन आए हुए हैं. ध्यान रखना है कि आपस मे लड़ाई न हो, किसानों के बीच घूमते रहें.

Visits: 222
0Shares
Total Page Visits: 132 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिंदी »